डर, उदासी, विरक्ति और चांद…

डायरी / कुमार अजय रात के दस बजने को है। कांकाणी का वही ढाबा है, पंकज उधास की गजलें सुनकर लौटते हुए जहां कभी कढ़ी-सोगरे का स्वाद चखा था। कढी के साथ सेव-टमाटर, छौंकी हुई हरी मिर्च और दही डालकर चूरी हुई बाजरी की रोटी में जब ढाबे वाला लड़का देसी घी की ‘मिरकली’ डालता है तो दिल चाहकर भी मना नहीं कर पाता जबकि आम दिनों में तो घी लगभग वर्जित ही है। मोटापा, बीपी, डायबिटीज और जाने क्या-क्या डर। डर अपनी जगह झूठे भी नहीं। लेकिन कभी-कभी सारे…

Read More

मौत पर मुआवजा का खेल, यहां घर में रख दी जाती है लाश..

moutana tribal area

उदयपुर। अरावली की पहाड़ियों में बसे डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर जिले समेत जनजाति अंचल में मौताणा की गूंज सुनने को मिलती है। मौताणा प्रथा आदिवासियों का अपना कानून है। यहां किसी व्यक्ति की मौत होने पर जिम्मेदार लोगों से राशि वसूली जाती है। यह राशि लाखों में होती है। शव को जिम्मेदार व्यक्ति के घर—आंगन में रख जाता है। जब तक राशि वसूली नहीं की जाती है, तब तक शव को आंगन से उठाया नहीं जाता है। कभी कभी चार से पांच दिन तक शव रखा रहता है। मौताणा तय होने…

Read More

स्टैच्यू आॅफ यूनिटी के लिए ऐसे मिला था मुस्कुराता चेहरा

स्टैच्यू आॅफ यूनिटी पर देश के साथ विश्व की नजर रही। गुजरात में स्थापित दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा हर किसी का आकर्षण रही। भारत ने प्रतिमा निर्माण का रिकार्ड अपने नाम कर लिया है, लेकिन क्या आपको पता है कि इस प्रतिमा का निर्माण व डिजाइन इतना आसान नहीं था। इसके लिए सरदार वल्लभभाई पटेल के ढाई हजार फोटो एकत्रित किए गए। गुजरात प्रदेश व अन्य कई संस्थाओं की मदद से फोटो को शामिल किया गया। फिर लौह पुरूष का मुस्कुराता चेहरा चयनित हुआ। भारत के ए​कीकरण में इनके…

Read More

पर्यटकों के लिए उपयोगी है ये जानकारियां, जानिए कैसे पहुंचे, कहां ठहरे और…

चित्तौड़ के दर्शनीय स्थलों को देखने के लिए हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक यहां आते हैं। हालांकि बहुत से पर्यटकों को कई तरह के सवाल परेशान करते रहते हैं जैसे चित्तौड़ कैसे पहुंचे? यहां क्या खाएं? कहां ठहरे? क्या खरीदें? अपनी इस कड़ी में हम आपके ऐसे ही सवालों के जवाब देने की कोशिश कर रहे हैं। कैसे पहुंचे सड़क मार्ग– चित्तौड़गढ़ सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। आप उदयपुर, अजमेर, जयपुर, कोटा जैसे बड़े शहरों से बस के माध्यम से चित्तौड़गढ़ पहुंच सकते हैं। साथ ही दुर्ग जाने…

Read More

इस परम्परा के लिए सात गैर मर्दों से संबंध बनाती हैं यहां की महिलाएं

ट्रेक टु इंडिया डॉट कॉम में आपका स्वागत है। आज हम आपको एक ऐसी परम्परा बताने जा रहे हैं जिसके तहत महिला को अपने परिवार की शांति के लिए 7 गैर मर्दों से संबंध बनाना पड़ता है। ये परम्परा इंडोनेशिया का बाली द्वीप पर निभाई जाती है। बाली द्वीप बेहद खूबसूत है। पूरी दुनिया के लोग अपने जीवन में एक बार बाली द्वीप पर घूमने के लिए आने का सोचते हैं। यह जगह खूबसूरत होने के साथ-साथ काफी सस्ती भी है। आपको विदेश में घूमना पर बजट की समस्या है…

Read More

सलीम और अनारकलीः प्रेम की ऐसी दर्द भरी कहानी, जिसका अंत बेहद खतरनाक

इस प्रेम कहानी में जिस खूबसूरती से प्यार सजा हुआ है उससे भी ज्यादा ये कहानी एक खतरनाक दर्द भरी दांस्तां हैं। इस पूरी कहानी में सच्चा प्यार भी है और मौत भी। अनारकली को पाने के लिए शहजादे सलीम ने अकबर से युद्ध तक किया जिसमें शिकस्त का सामना करना पड़ा। अकबर ने यह शर्त रखी थी कि या तो सलीम अनारकली को उन्हें सौंप दे या फिर खुद मौत को गले लगा ले। सलीम ने अनारकली से दूर होने के बजाय मौत के मुंह में जाना बेहतर समझा, लेकिन…

Read More