ऐसे डूब गया वागड़ का यह सूर्यमुखी मंदिर…

wagaddarshan

मनीष कलाल। वागड़ में शिवालयों का खजाना है। हर शिवालय की अपनी एक कहानी है। इन​ शिवालयों के प्रति लोगों में अगाध आस्था है। वागड़ में एक मंदिर ऐसा भी है जो पानी के मध्य स्थित है। जानकार बताते हैं कि यह मंदिर आठ माह पानी में डूबा रहता है। चार माह ही लोग पानी के तट तक पहुंच पाते हैं। यहां लोग नाव के जरिये दर्शन करने आते हैं। बासंवाड़ा—डूंगरपुर जिले की सीमा पर लगते चीखली—आनंदपुरी के मध्य बेडूवा गांव के पास यह मंदिर मौजूद है। अनास व माही…

Read More