क्या आप जानते है वागड़ की महिला किसान मॉडल को

dungarpur

वागड़ की महिला किसान ने दिल्ली में गाया “वडाली तारे खुस जाहे मु नानी परणाई” राजेश पटेल,डूंगरपुर। किसानों को याद करने के लिए सिर्फ किसान दिवस ही नहीं है। अन्नदाता को याद करने के लिए हर दिन महत्वपूर्ण है। वागड़ ​के किसान खेती में जो नवाचार कर रहे हैं वह काबिले तारीफ है। किसी ने क्या खूब लिखा है, “कर दिखाओ कुछ ऐसा कि दुनिया करना चाहे आपके जैसा ” ऐसा ही कुछ करके दिखाया है वागड़ की शांता पटेल ने। इस महिला किसान को दूरदर्शन चैनल द्वारा राष्ट्रीय महिला…

Read More

वागड़ का काला बादल, दे रहा जमकर टक्कर…

wagad darshan

मनीष कलाल। काला बादल, नाम थोड़ा अटपटा जरूर है, लेकिन यही इसकी पहचान है। यह कोई जगह नहीं, कोई जानवर नहीं, यह चावल की एक किस्म है। जो सिर्फ अपने नाम के कारण पहचानी जाती है। डूंगरपुर जिला मुख्यालय से 68 किमी की दूरी तय करने जसैला, गरियता व चीखली क्षेत्र के गांवों में हर कोई इस नाम से परिचित है। इस चावल के सामने कोई भी चावल टिक नहीं पाता है। एक—एक दाना ऐसा खिलता है कि स्वादिष्ता में अच्छे से अच्छा चावल फीका पड़ जाए। चावल की अन्य…

Read More

अरे वाह…नासिक के पौधों से डूंगरपुर में हो रही अनार की खेती..

Dungarpur agriculture

कर्तव्य शाह, डूंगरपुर। कभी सोचा भी नहीं था कि हमारे खेतों में अनार की पैदावार हो सकेगी। हमारे खेत भी अनार के लिए तैयार हो सकते हैं, लेकिन आज खेतों में अनार की फसल नजर आ रही है। यह कहना है डूंगरपुर जिले के भचडिया गांव के किसान अभयसिंह डामोर का। राजस्थान के डूंगरपुर जिले का भ​चडिया गांव पड़ोसी गुजरात से करीब 10 किमी की दूरी पर है। अभयसिंह का गुजरात राज्य के बोरवाई गांव में जाना हुआ। वहां देखा कि पाटीदार समाज अनार की बढ़िया खेती कर रहा है।…

Read More

इजरायल की नौकरी छोड़ घर लौटे, ओर अब बनाई अपनी पहचान…

shimla mirch

राजेश पटेल, डूंगरपुर। वागड़ से बड़ी संख्या में लोग खाड़ी देशों में रोजगार के लिए जाते हैं। वागड़ का एक व्यक्ति बेहतर रोजगार व कमाने के लिए इजरायल देश गया। वहां नौकरी कर रोजगार से जुड़ गया। नौकरी करने के दौरान देखा कि यहां किसान जैविक खेती कर अच्छी कमाई कर रहे हैं, इसकी मांग भी अधिक है। तो उन्होंने अपने देश की माटी में आधुनि​क तरीके से खेती करने की ठानी। पहले नुकसान भी झेला, लेकिन अब कृषि कार्य के जरिये मिसाल कायम कर रहे हैं। अन्य किसान उनसे…

Read More

मोदी के गुजरात से वागड़ की म​हिला किसान को मिला ऐसा आइडिया, अब कमा रही हर माह 50 हजार रुपये

agriculture

राजेश पटेल, डूंगरपुर। सचिन ने क्रिकेट में कमाल कर दिया। गीता फोगाट—बबीता फोगाट ने पहलवानी में दमखम दिखा कर पहचान बनाई। वहीं डूंगरपुर जिले की शांता पटेल ने खेती के साथ पशुपालन को आजीविका बनाकर अपनी अपने परिवार की तकदीर बदलने का काम किया है। अब गांव समेत क्षेत्र में इन्हें हर कोई जानने लगा है। यह हर माह करीब 50 से 60 हजार रुपये कमा रही है। जिले के ओडा छोटा गांव की महिला किसान ने गुजरात की तर्ज पर कार्य शुरू किया। अब आय दुगुनी होने के साथ…

Read More