भूल गए, पर करें क्या है तो नेताजी!

wagad darshan 01

वागड़ के एक नेताजी ने अपने चुनाव प्रचार के लिए शुभ समय तलाशा। वह शुभ दिन भी बुधवार को आया। शुभ कार्य की शुरूआत के लिए शुभ स्थान पर गए। गले में पार्टी का दुपट्टा ​धारण कर लोक देवता का आशीर्वाद लिया। लेकिन आदर्श सिद्धांतों को भूल गए, ओर कर बैठे आचार संहिता का उल्लंघन। संगठन में काफी​ किरकिरी हो गई। हर किसी के बीच काफी चर्चा का विषय रहा यह कारनामा। पर भले करें क्या है तो नेताजी। कोई क्या कहे, इन्हें…! संगठन के सक्रिय युवाओं ने व्हाट्स एप…

Read More