जहां मिली थी ईंट, अब बन रहा हनुमानजी का मंदिर

wagad darshan

विशाल कलाल की नजर से : कहते हैं कि ईश्वर कण कण में विराजमान है। निश्चल भाव से बस तलाशने की जरूरत है। आपकी भक्ति में कुछ बात है, भक्त का भगवान से साक्षात्कार हो सकता है। अरावली की इन वादियों में आस्थाएं समायी हुई है। डूंगरपुर जिले का सुराता क्षेत्र घना जंगल है। पहाड़ी क्षेत्र होने के साथ दिन में सड़कें सुनसान नजर आती है। वैसे यह गांव ग्रीन मार्बल की खानों के लिए जाना जाता है। यहां का मार्बल प्रदेश भर में पहुंचता है। यहां बड़े बड़े पत्थरों के…

Read More